शासन की उजाला योजना हुई फ़्लॉप..2 वर्षो में लाखों बल्ब बाटने के बाद ..अब खराब बल्ब वापस करने 6 महीने से भटक रहे उपभोक्ता…

1243
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add
सूरजपुर ( आयुष जायसवाल) -दो वर्ष पहले कम बिजली खपत व बेहतर रोशनी के उद्देश्य से शासन द्वारा चलाया गया उजाला योजना विलुप्त होता नजर आ रहा है , ज्ञात हो की उजाला योजना के अंतर्गत प्रदेश में  सूरजपुर जिले  के साथ के  सभी जिलों में 9वाट का  बल्ब सहित 20वाट ट्यूब लाइट और 50वाट का सीलिंग फैन वितरण किया गया था, चुकी इस योजना के अंतर्गत बल्ब में 3 वर्ष , ट्यूब और सीलिंग फैन में 2-2  की वापसी की गारंटी थी  इस बेहतर  योजना के कारण शुरुवात में ही पूरे प्रदेश में इस योजना को बेहतरीन रिजल्ट मिला , साथ ही इस योजना को EESL ( एनर्जी एफिसेंसी सर्विस लिमिटेड ) द्वारा सप्लाई किया जा रहा था
  • प्रत्येक जिले में कर्मचारी नियुक्त कर कराया गया था वितरण – चुकी उजाला योजना को प्रत्येक घर तक पहुंचाना था तो शासन द्वारा प्रत्येक जिले में अपने कर्मचारी नियुक्त कर सभी बिजली ऑफिस साथ ही गॉव – गॉव जाकर व समाधान शविरो में भी वितरण किया गया था
  • बीपीएल कनेक्सन वालो को फ्री  व लोन पर भी मिला बल्ब जानकारी के अनुसार उजाला योजना अंतर्गत BPL बिजली कनेक्शन धारियों को 3 पीस मुफ्त में बल्ब व एक बिजली बिल पर आम आदमी को 10 नाक लोन पर बल दिया जा रहा था जो उसके बिजली बिल में 8 महीने तक जुड़कर पैसा कटाता इसलिए इतने सारे बेहतरीन ऑफर के चलते शुरू से ही इस योजना को बेहतरीन शुरुआत मिली वह लगभग प्रत्येक घरों में LED बल्ब जलने लगे
  • अकेले सूरजपुर में ही बिक गये 4.50 लाख बल्ब चुकी इस योजना को सूरजपुर जिले में भी चला गया था जिसमें क्रमश बिश्रामपुर ,सूरजपुर ,भटगांव, भैयाथान, रामानुजनगर ,प्रेमनगर, ओड़गी के बिजली आफिस सहित दतिमा मोड़, अघिना सलका सहित गांव गांव जाकर व समाधान  शिविर में भी जाकर व्यापक रूप से LED बल्ब, ट्यूबलाइट व सीलिंग फैन वितरण किया गया था सूरजपुर में इस योजना को इतनी सफलता मिलेगी केवल 4:30 लाख बल्ब सूरजपुर जिले में ही बिक गए साथ ही सरगुजा,  बलरामपुर कोरिया, जसपुर सहित पूरे प्रदेश के जिले भर में  लाखों पीस बल्ब बांट दिए गए हैं वह सभी जगह बल्ब वापस करने को लेकर उपभोक्ता  बेहाल है
  • 6 महीने से वापसी के लिए भटक रहे लोग, कर्मचारी भी परेसान – चुकी सूरजपुर जिले में व्यापक रूप से बल्ब वितरण हुआ तो अधिकतर उपभोक्ताओं केबल खराब होने लगे जब वे बिजली ऑफिस के साथ अन्य कहां काउंटरों में बर्फ वापस करने गए तो बस उन्हें वहां 6 महीने से नो स्टॉक का  बोर्ड लगा हुआ मिला चुकी कर्मचारियों से इस बारे में पता किया गया तो उन्होंने बताया कि ऊपर से ही बल्ब व अन्य उपकरण की सप्लाई नहीं आ रही है, जिससे कर्मचारियों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है,
  •  बड़े नामी कम्पनियो के बल्ब हो रहे थे वितरण , फिर भी जल्दी हो गए  साल भर में ही फ्यूज- जानकारी के अनुसार उजाला योजना के अंतर्गत वितरण होने वाले उपकरणों में देश के बड़ी नामी कंपनियों के लोगों लगे हुए थे जैसे Philips सूर्या ओरिएंट आदि फिर भी बड़े कंपनियों के बल्ब के साथ अन्य उपकरण भी जल्दी शूज हो गए तो सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या कम रेट होने के कारण इनकी क्वालिटी भी कम थी जिससे जिससे यह उपकरण जल्दी फ्यूज हो जा रहे हैं बरहाल जो भी बात है लेकिन शासन द्वारा जिस गति से इस योजना को संचालित किया गया था वह 3 साल की गारंटी दी गई थी तो इस ओर ध्यान देकर उपभोक्ताओं के बल्ब व अन्य उपकरण वापसी हेतु जल्दी अपने संज्ञान में लेकर कारवाही कराया जाए जिससे कि उपभोक्ता अपने आप को ठगा महसूस ना कर रहे है…
वेद प्रकाश ढिंढोरे
रीजनल हेड EESL ( रायपुर )
” कम्पनी द्वारा पोस्ट आफिस से उजाला योजना का सेट सिस्टम अपडेट किया जा रहा है , 2 महीने में अगर अपडेट का कार्य प्रोसेस हो जाता है तो तत्काल पोस्ट आफिस, पेट्रोल पंप, च्वाइस सेंटर और रनिग काउंटर से रिप्लेसमेंट की सुविधा चालू करा दी जायेगी..
  • 6
    Shares
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add