मुख्यमंत्री आज रायपुर में..नालंदा परिसर‘‘, लाईवलीहुड कॉलेज भवन और केन्द्रीय विद्यालय क्र.2 के अतिरिक्त सेक्शन के लिए निर्मित भवन का करेंगे लोकार्पण…

319

रायपुर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज राजधानी रायपुर में विद्यार्थियों के लिए तीन महत्वपूर्ण परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे। डॉ. सिंह शाम 5.30 बजे राजधानी रायपुर के जोरा में लाईवलीहुड कॉलेज के नवनिर्मित भवन, केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-2 के सेक्शन दो के लिए निर्मित भवन और नालंदा परिसर का लोकार्पण करेंगे।

इन कार्यक्रमों में रायपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री रमेश बैस, कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, आवास एवं पर्यावरण तथा लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, नगरीय प्रशासन, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री अमर अग्रवाल, स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप, छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री देवजी भाई पटेल, नगर पालिक निगम रायपुर के महापौर श्री प्रमोद दुबे, रायपुर ग्रामीण के विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा, रायपुर उत्तर के विधायक श्री श्रीचंद सुन्दरानी, आरंग विधायक एवं जिला खनिज न्यास सदस्य श्री नवीन मारकण्डेय, नगर निगम रायपुर के सभापति श्री प्रफुल्ल विश्वकर्मा, नेता प्रतिपक्ष श्री सूर्यकांत राठौड़, पार्षद द्वय श्री सतनाम सिंह पनाग और श्री सनत बैस विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।
लाईवलीहुड कॉलेज के भवन का निर्माण लगभग 4.15 करोड़ की लागत से किया गया है। मुख्यमंत्री इस परिसर में 2.54 करोड़ की लागत से बनने वाले 100 सीटर बालक छात्रावास तथा 1.77 करोड़ की लागत से बनने वाले बालिका छात्रावास भवन का भूमिपूजन करेंगे। दीनदयाल उपाध्याय नगर स्थित केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-2 में विद्यालय में जिला खनिज न्यास निधि से ढाई करोड़ रूपए की लागत से अतिरिक्त सेक्शन के लिए भवनों का निर्माण किया गया है और विकास कार्यों कराए गए हैं।  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एन.आई.टी.) के पास और आयुर्वेदिक कॉलेज के सामने वर्ल्ड क्लास सुविधाओं से युक्त ‘‘नालंदा परिसर‘‘ का निर्माण लगभग 6 एकड़ क्षेत्र में करीब 18 करोड़ की लागत से किया गया है। इस राशि में से जिला खनिज न्यास निधि से 15.21 करोड़ रूपए तथा छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मण्डल से 2.44 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है। परिसर का निर्माण रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा किया गया है। अध्ययन के लिए विश्वस्तरीय सुविधाओं से युक्त यह 24 घण्टे और सातों दिन संचालित होने वाला देश का अपने आप में एक अनूठा शैक्षणिक संस्थान होगा।

  • 13
    Shares