बाल मजदूरी का बढ रहा तेजी से रफ्तार… जिमेदार नही दे रहे इस ओर ध्यान जिसके वजह से ठेकेदारों का हौसला बुलंद..!

सूरजपुर (बिट्टू सिंह राजपूत) जिले के कई क्षेत्रो मे नबालिग बच्चो से मजदूरी जोरो पर कराया है ..जिसमें शासकीय कार्य भी अब अछूता नही रहा है । नबालिग बच्चो के शोषण होने पर रोक लगाने कई योजनाओं का संचालन प्रदेश भर मे चलाया जा रहा है कई समाज सेवी संस्था भी इस ओर काम कर रही है मगर इसका धरातल पर कोई असर नही है जिसके वजह से शासकीय ठेके के कार्यो मे 14 वर्षो से कम बच्चों ने काम करते देखे जा सकते है ..
वही बात करे तो इन दिनो प्रधानमंत्री अवास योजना अंतर्गत बन रहे मकानो मे 14वर्ष से कम उम्र के बच्चे ईंट बालू ढोते ट्रैकटर और ईंट भठ्ठे मे दिख जायेगें । सबसे बडी बात तो यह है की इनसे ठेकेदारों को कम लागत के मजदूरी मे ज्यादा काम ले रहे है जिसके वजह से नबालिग बच्चों से मजदूरी का कार्य मे तेजी आ रही है । वही बात करे जिले के दुराचंल क्षेत्र चांदनी बिहारपुर के ग्राम  कोल्हुआ  में राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र पण्डो जनजाति  के बच्चों के साथ ठेकेदार द्वारा तेंदूपत्ता का उल्ट पलट का कार्य कराया जा रहा है जिसमे 4 से 10 साल के बच्चे काम करते नजर आ रहे है, जब इनकी मजदूरी की बात करे तो 5रुपये प्रती हजार के दर से इन बच्चों की मजदूरी दी जा रही है और इस चिलचिलाती धुप मे बच्चो से कार्य कराया जा रहा है । इस ओर जिला प्रशासन को मुहीम चला कर कार्यवाही करने लोगो ने मांग की है ।
  • 17
    Shares