होटल रेस्टोरेंट में धड़ल्ले से हो रहा..घरेलू गैस का उपयोग..नियमो का नही हो रहा पालन…

1199
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add

बालोद ( जागेश्वर सिन्हा)खाद्य विभाग की उदासीनता के चलते शहर के होटलों और रेस्टोरेंट में बड़ी मात्रा में    घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग हो रहा  है। वही  घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग होटल संचालक खुलेआम कर रहे हैं, फिर भी जिम्मेदार विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। बता दे कि नगर के दर्जनों दुकानों पर घरेलू गैस का उपयोग कईं सालों से किया जा रहा है। इतना ही नही सरकार द्वारा मिली उज्वला योजना के तहत गैस का भी  होटल में उपयोग हो रहा है।बता दे कि होटल संचालक भोले भाले ग्रामीणो को पैसो  क प्रलोभन देकर उनकी गैस टँकी का उपयोग कर रहे हैं। जिसकी जाल में ग्रामीण जल्दी फंस जाते हैं।और अपना टँकी मजबूरी वश दे देते हैं।

  • होटलों की नहीं होती जांच

होटलों में सफाई की बात हो या फिर खाद्य सामग्री की जांच, सभी मामलों में विभागीय अमला पीछे है। इसकी वजह से होटल संचालकों द्वारा धड़ल्ले से घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग किया जाता है। इन्हें जरा भी नियमों की परवाह नहीं है और न ही प्रशासन का खौफ। विभागीय अमले की उदासीनता के कारण ही  होटल व रेस्टोरेंट मालिक व्यवसायिक सिलेंडरों का उपयोग करना ही भूल गए हैं।

  • उपभोक्ता को भुगतना पड़ रहा खामियाजा

होटलों में घरेलू गैस का उपयोग होने से जहां होटल मालिक मजे में हैं, वहीं दूसरी ओर उपभोक्ता परेशान हैं। होटलों में घरेलू गैस का उपयोग होने के कारण गैस की कालाबाजारी करने वाले भी सक्रिय हैं। होटलों में गैस का उपयोग ज्यादा होने के कारण आम उपभोक्ताओं को गैस की टंकी समय पर नहीं मिल पा रही है। गैस टंकियों को लेने के लिए उन्हें बार-बार भटकना पड़ता है। एजेंसी पर जाने पर कभी उन्हें लोड नहीं आने एवं स्टॉक नहीं होने का हवाला देकर घुमाया जाता है। वहीं होटल संचालकों को आसानी से ब्लैक मेें टंकियां मिल जाती है। नगर में ऐसे कई गैस टंकी की कालाबाजारी करने वाले लोग हैं जो घरेलू गैस टंकी को ब्लैक में बेच रहे है। घरेलू गैस टंकी का उपयोग होटलों में होने के कारण गैस टंकियों की मांग बढ रही है। जिस कारण आम उपभोक्ताओं को टंकियां समय पर नहीं मिल पा रही है।

  • हो रही कागजी खानापूर्ति 

लंबे समय से नगर में घरेलू गैस टंकियों का उपयोग होटलों एवं रेस्टोरेंटों में हो रहा है। किंतु फिर भी जिम्मेदार विभाग द्वारा कार्रवाई नहीं करना कई शंकाओं को जन्म देता है। ऐसा नहीं की विभाग के आला अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं है, उन्हें भी यह पता है पर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। साल में मात्र एक-दो बार छोटी-मोटी कार्रवाई करके अपने कर्तव्य की इतिश्री कर खानापूर्ति कर लेते हैं। अगर बालोद जिले सहित गुरुर,डोंडी लोहारा गुंडरदेही अर्जुन्दा देवरी के होटलों व रेस्टोरेंट में जांच किया जाए  तो बड़ी मात्रा में घरेलू गैस जप्त हो सकती हैं।

  • आप रहे सावधान

अगर आप घरेलू गैस का उपयोग करते हैं तो आप यह बात जरूर याद रखे,किसी के बहकावे में आकर अपना गैस टँकी होटल संचालक या किसी अन्य व्यक्ति को न दे चाहे इसके बदले आपको पैसा क्यो ही न दे , अगर आपका गैस होटल में पाया जाता है ,तो उसे जप्त किया जाएगा और आपके खिलाफ उचित कारवाही की जा सकती है।जिसमे आपको जुमाना या जेल भी हो सकता हैं।

  • 2
    Shares
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add