इस सरकारी स्कूल के क्या कहने.. जापानी पद्धति “कमीशिबाई” से बच्चे कर रहे शिक्षा ग्रहण..!

1221
अंबिकापुर अनिल उपाध्याय- विकास खँड मैनपाट के तराई गाँव जामझरिया मे प्राथमिक शाला के बच्चे जापान की आधुनिक शिक्षा पद्धति कमीशिबाई से अपनी पढ़ाई कर रहे है।इस पद्धति के तहत गत्ते या प्लाईबोर्ड की बनी पेटी पर चित्रकारी करते हुये उस चित्र के माध्यम से बच्चो को कहानी बताई जाती है।इस सम्बंध में स्कूल में पदस्थ पंचायत शिक्षक अरविंद गुप्ता ने बताया कि जापान प्रवास के दौरान स्कूल शिक्षामंत्री केदार कश्यप ने वहाँ के स्कूली बच्चों को कमीशिबाई पद्धति से पढ़ाई करते देख बहुत प्रभावित हुये और वहाँ से वापस आने के बाद उन्होंने पूरे प्रदेश में इसे लागू करने की योजना बनाई।इसी योजना के तहत यहाँ के बच्चों को इस आधुनिक शिक्षा पद्धति से जोड़कर पढ़ाया जा रहा है।इस पद्धति से बच्चो को सीखने-समझने में आसानी हो रही है।इसकी वजह से बच्चो का रुझान किस्से कहानियों की ओर बढ़ रहा है।इस पद्धति से बच्चो को पढाने हेतु उन्होंने शून्य निवेश कार्यशाला रायपुर में कमीशिबाई थियेटर से “तोता की कहानी” पर प्रस्तुति देकर सबका ध्यान अपनी ओर खींचा था।उन्होंने अपना थियेटर सहायक संचालक राजीव गाँधी शिक्षा मिशन सर्व शिक्षा अभियान एम सुदीश के सहयोग से तैयार किया था।
  • 12
    Shares