Thursday , January 18 2018
Home / breakings / ओडगी क्षेत्र में अवैध गमला भट्ठा संचालन जोरो पर वन एवं राजस्व विभाग दोनो मौन 

ओडगी क्षेत्र में अवैध गमला भट्ठा संचालन जोरो पर वन एवं राजस्व विभाग दोनो मौन 

ओडगी (शशांक प्रताप सिंह)  वन परिक्षेञ कुदरगढ अंतर्गत कई ग्राम पंचायतों में इन दिनों अवैध गमला ईट भट्ठा लगा कर ईट जलाने के चक्कर में अवैध ईट भट्ठा संचालकों के द्वारा सैकड़ो पेड़ काट कर वन संपदा का दोहन जोरो पर किया जा रहा है।  वन कर्मियों के संलिप्तता से वन परिक्षेञ कुदरगढ अंतर्गत ग्रामों में लंबे समय से पेड़ो की अवैध कटाई कर अवैध व्यवसाय जोरो पर चल रहा है।  और विभागीय अधिकारियों को ग्राम पंचायत बेदमी मे जंगल किनारे अवैध लकड़ी से ईट भट्ठा लगाने कि सूचना मिलने के बाद आन फानन मे टीम भेजकर जप्ती एवं भट्ठा सील करने के जगह पीवार जैसी कार्यवाही कर मामले को दबाने के प्रयास मे लग गये है।
वन परिक्षेञ कुदरगढ ओडगी विकास खंड के दूरस्थ क्षेत्रों में फैला हुआ है यहाँ के बीहड़ जंगलों में लकड़ी कटाई के साथ ईट भट्ठो मे हरे भरे वृक्षों से जलाना हमेशा सुनने में आता है।  लेकिन कभी भी कोई कार्यवाही वन विभाग के द्वारा नहीं किया गया और वही जहाँ लाखो रूपये के पेड़ो को काटकर अवैध व्यवसाय का धंधा बना लिये लोगों को वन विभाग कार्यवाही की जगह चंद रुपयों का पिवार काट कर अवैध ईट भट्ठा संचालकों का मनोबल बढ़ाये बैठा है। जहाँ इन दिनों ग्राम पंचायत बेदमी मे धडल्ले से कई अवैध गमला ईट भट्ठो मे हरे भरे वृक्षों को काट कर ईट जलाने के लिए गमला भट्ठो मे  लकड़ी डाल दिया गया है। वहीं वन परिक्षेञ कुदरगढ से गांव में पहुंची वन विभाग की टीम ने आखों से देखने के बाद भी कोई कार्यवाही नही किया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि वन विभाग के एक कर्मचारी भी इस गांवों में अवैध रूप से ईट बनाकर लकडी से  गमला भट्ठा लगा कर जला रहा है और नौकरी के साथ अवैध व्यवसाय भी कर रहा है, इस लिए वन विभाग की टीम ने किसी के ऊपर कार्यवाही करना उचित नही समझा और सभी को जल्द ईट जलाने की सलाह देकर चले गये। जिससे क्षेत्र के ग्रामीणों मे रोष है और वन विभाग मौन बैठा हुआ है।
क्या कहता है राजस्व विभाग 
जहां ओडगी तहसील अंतर्गत एक भी गमला ईट भट्ठा का परिमिशन  नही लिया गया है जो आंकड़े खनिज एवं राजस्व विभाग के कहते है फिर भी सैकड़ो से भी ज्यादा गमला ईट भट्ठो का संचालन बिना अनुमति के जोरो पर चल रहा है और इस अवैध गमला ईट भट्ठो के संचालक के ऊपर कार्यवाही के जगह क्यो मौन बैठा है राजस्व विभाग, यह तो समझ से परे है। लेकिन  तहसीलदार को कोई जानकारी नहीं है और एसडीएम का कहना है कि तहसीलदार को कार्यवाही के लिए बोली हूँ। यह विषय भी सोचने का है, कि क्या अधिकारी अपने कर्तव्य से दूर भागना चाहते है। जबकि  इस विषय में भैयाथान एसडीएम ज्योती सिंह  से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बिना अनुमति के चल रहे अवैध ईट भट्ठो पर मैने तहसीलदार ओडगी को क्षेत्र में जाकर ऐसे भट्ठो को सील कर कार्यवाही करने के लिए बोला है, जल्द कार्यवाही होगी। वही ओडगी तहसीलदार सालीकराम गुप्ता से कार्यवाही के विषय पर जानकारी चाहा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे  इस विषय में कोई जानकारी नहीं है एसडीएम के द्वारा कोई आदेश या सूचना नहीं  दिया गया है।

Check Also

सरगुजा के नए SP सदानंद कुमार ने सम्हाली कमान.. जाने क्या करेंगे ख़ास..?

  @Deshdeepakgupta अंबिकापुर सरगुजा जिले के पुलिस विभाग की कमान नव नियुक्त पुलिस अधीक्षक सदानंद …

Leave a Reply