मोदी पान भण्डार के वायरल तस्वीर की हमने की पड़ताल… जाने क्या है सच..!

374

@Deshdeepakgupta

न्यूज डेस्क

सोशल साइट्स फेसबुक में एक वायरल तश्वीर की पड़ताल फटाफट न्यूज ने की है.. और पड़ताल जो सच सामने आया है वो हम आपको बताने जा रहे है.. दरअसल सोशल साईट में एक तश्वीर वायरल हो रही है जिसमे एक दुकान का नाम “मोदी पान भण्डार” लिखा हुआ है.. और दुकान के बोर्ड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तश्वीर भी लगी हुई है.. फेसबुक में इस तश्वीर को छत्तीसगढ़ का बताया गया है जबकी जब हमने इसकी पड़ताल की तो पता चला की यह वाकया राजस्थान के राजसमंद जिले के आमेट बस स्टैंड का है दुकान संचालक के बेटे ने बताया की उनकी पान की दुकान अजन्ता पान भण्डार नाम से कई वर्षो से इसी जगह पर संचालित थी.. लेकिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित होने की वजह से उनके पिता ने अपनी दूकान का नाम मोदी पान भण्डार रख दिया.. वो बताते है की प्रधानमंत्री के नाम पर दूकान का नाम रखना उनके परिवार सहित अगल बगल के दुकानदारो को काफी महँगा पड़ गया.. वर्षो से संचालित दुकानों को प्रशासन ने हटा दिया और ये लोग आज सडक पर आ चुके है.. और मोदी पान दुकान के संचालक अब लारी में रामदेव सूज नामक दूकान चलाते है..

फिलहाल वायरल तश्वीर की पड़ताल में जो सच सामने आया वो यह है की अजन्ता पान भण्डार का नाम पिछले एक वर्ष पहले मोदी पान भण्डार रख दिया गया था.. लेकिन प्रशासन के द्वारा लगभग 6 महीने पहले दुकान हटवा दी गई है.. बहरहाल मोदी पान भण्डार के संचालक की माने तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति उनकी आस्था ही उनके लिए मुसीबत बन गई.. और आज जिस दुकान को वर्षो से चला रहे थे उससे वंचित कर दिया गया है.. जबकी राजस्थान में भाजपा की सरकार है और आमेट नगर पालिका में भी भाजपा के अध्यक्ष बैठे हुए है.. जिनके कार्यकाल में ये दुकाने हटाई गई.. बताया यह भी गया की इससे पहले वहां कांग्रेस के अध्यक्ष थे और तब उनकी दुकाने नहीं हटाई गई थी..

  • 52
    Shares