छत्तीसगढ़ की सियासत में ज्योतिष का तड़का… रमन..जोगी या भूपेश कौन पहनेगा 2018 का ताज..!

726
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add

@Deshdeepakgupta

रायपुर छत्तीसगढ़ में 2018 में विधान सभा चुनाव होने है.. और सत्ता में चौथी बार वापसी के लिए भाजपा की तैयारियां शुरू हो चुकी है.. वही कांग्रेस व तीसरे मोर्चे के रूप में उभर कर आई प्रदेश की स्थानीय पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अजीत जोगी भी पूरे प्रदेश में तेज रफ़्तार से संगठन का विस्तार कर रहे है.. इसी बीच हमने विश्व के एक सुप्रसिद्द ज्योतिष से ख़ास बात चीत में यह जानना चाहा की प्रदेश की सियासत में ज्योतिष का क्या मत है.. जाहिर है की ज्योतिष को सुप्रीम कोर्ट ने भी विज्ञान माना है तो हमने भी ज्योतिष के अनुसार आगामी विधान सभा के परिणामो के विषय में कुछ जानना चाहा..

डॉ रमन सिंह 

बहरहाल ज्योतिष के अनुसार किसी संगठन का तो नहीं लेकिन वर्तमान में संगठन का नेतृत्व कर रहे नेताओं के फलादेश के अनुसार यह बताया गया की 2018 के चुनाव परिणाम क्या हो सकते है.. सबसे पहले बात करें चौथी बार सरकार बनाने के प्रबल दावेदार प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की तो उनका लग्न कर्क और राशी तुला है और उनकी राशि में अप्रैल 2018 तक राहू का अंतर है, लिहाजा ये समय उनके लिए अधिक मेहनत वाला है.. लेकिन 2018 के नवम्बर-दिसंबर माह में जब चुनाव के परिणाम आने होंगे उस समय डॉ रमन सिंह की राशी में गुरु की दशा होगी भाग्येश गुरु दशम स्थान पर यानी राज्य के स्थान पर होगा.. लिहाजा ज्योतिष के अनुसार ये माना जा सकता है की उस समय रमन सिंह सत्ता के करीब होंगे…

अजीत जोगी 

वही बात करें पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की तो उनका लग्न कुम्भ और राशि मीन है और चन्द्रमा की महादशा में शुक्र का अंतर है 25 जून 2018 तक है.. लिहाजा यह समय अजीत जोगी के लिए संगठन को खडा करने के लिए अधिक चुनौतियों भरा रहने वाला है.. लेकिन चुनाव परिणाम के समय 25 दिसम्बर 2018 तक इनकी राशी में सूर्य का अंतर और मंगल की महादशा होगी जो राजनीति के लिए बेहतर समय होगा.. मतलब ज्योतिष के अनुसार चुनाव के समय इनके योग प्रबल रहने वाले है.. वही आजीत जोगी के लिए अच्छी खबर यह है की जून महीने के बाद उनके बहोत सारे नए दोस्त बन सकते है, लिहजा राजनैतिक द्रष्टिकोण से देखा जाए तो भाजपा और कांग्रेस के बागी जोगी का दामन थाम कर उनका कद बढ़ा सकते है..

भूपेश बघेल 

सरकार में विपक्ष में बैठी कांग्रेस के नेता पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल के सितारों की बात करें तो उनका जन्म लग्न कन्या और राशी धनु है 26 अक्टूबर 2017 से इनकी राशी में शनि का प्रवेश (आपको बता दे की शनि एक राशी में ढाई वर्ष तक रहते है) भूपेश बघेलकी राशी में गुरु में चन्द्रमा का अंतर जुलाई 2018 तक है लिहाजा अंतर कलह का प्रबंधन कठिन होगा, साढ़ेसाती लगातार परेशान कर सकता है, मगर मंगल की महादशा शुर होते ही जुलाई 2018 में भूपेश बेहद आक्रमाक होंगे.. आपको बतादें की 26 अक्टूबर को भूपेश बघेल की राशी में शनी प्रवेश किया और उधर छत्तीसगढ़ में सीडी काण्ड में विनोद वर्मा की गिरफ्तारी के बाद भाजपा भूपेश सहित पूरी कांग्रेस को घेरे हुए है..

बहरहाल प्रदेश की सियासत के तीन प्रमुख दल के तीन प्रमुख नेताओं का राशिफल इस प्रकार है.. और इन नेताओ के ग्रहों के हिसाब ने चुनाव के निष्कर्ष का अंदाजा लगाया जा सकता है क्योकी अपने दलों को यही लोग लीड करते है.. हालाकी यह फलादेश सिर्फ तीन दल के तीन नेताओं का है.. किसी दल का नहीं हो सकता है की पार्टी के अन्य नेताओं के गृह कुछ कमाल कर जाए तो परिणाम अलग भी हो सकते है..

फिलहाल ज्योतिष के अनुसार आगामी चुनाव में तीन बड़े दल के इन नेताओं को जो रैंकिग मिली है उसमे

1_डॉ रमन सिंह- मुख्यमंत्री – 80%

2_भूपेश बघेल- अध्यक्ष कांग्रेस – 75%

3_अजीत जोगी-पूर्व मुख्यमंत्री – 70%

बहरहाल ज्योतिष के अनुसार प्रदेश की सियासत के तीन बड़े चेहरों के राशी फल के अनुसार विधान सभा चुनाव की स्थति यह हो सकती है.. जाहिर है की नई पार्टी के गठन के बाद खुद मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अजीत जोगी को प्रदेश की तीसरी ताकत के रूप में स्वीकार किया है, और ज्योतिष ने भी उन्हें दोनों राष्ट्रीय दलों के बराबर लाकर खडा कर दिया है..  ज्योतिषाचार्य ने यह भी कहा की सरकार किसी की भी बने पर किंग मेकर अजीत जोगी ही होंगे.. इस बार के चुनाव में अगर वो सरकार नहीं बनाते है तो भी उनकी अहम् भूमिका रहने वाली है..

इन नेताओ की कठिनाई को सरल करने के लिए ज्योतिषाचार्य ने उपाए भी बताये है लिहाजा डॉ रमन सिंह को राहू शान्ति और रूद्राभिषेक कराने से फायदा होगा.. वही अजीत जोगी को शुक्र शांति और सतचंडी का पाठ कराने से मुसीबतों से छुटकारा मिलेगा.. पीसीसी अध्यक्ष जिनकी राशी में शनि प्रवेश कर चुका है उनको शनि शांति और दूध से शिव जी का अभिषेक करने से लाभ होने की बात कही गई है..

नोट – यह फलादेश किसी भी पार्टी का नहीं है ज्योतिष के अनुसार फलादेश सिर्फ राजनैतिक दलों के नेताओ के है..  

  • 56
    Shares
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add