शिक्षा कुटीर के अनूठे प्रयास की साथी बनी सरगुजा पुलिस…

352

@Deshdeepakgupta

अंबिकापुर के दरिमा क्षेत्र में संचालित निशुल्क निजी विद्द्यालय शिक्षा कुटीर के बच्चो के द्वारा एक बाल मेले का आयोजन किया गया.. यह आयोजन संस्था ने सरगुजा पुलिस के सहयोग से आयोजित किया..दरअसल सामुदायिक पुलिसिंग के तहत सरगुजा आई जी हिमांशु गुप्ता व एस पी आर. एस. नायक के नेतृत्व में सरगुजा पुलिस विभिन्न सामाजिक कार्य कर रही है.. उसी क्रम में यह आयोजन किया गया था.. शिक्षा कुटीर जो एक निजी विद्द्यालय है लेकिन कुछ लोगो के प्रयास से इस विद्द्यालय में बच्चों को निशुल्क शिक्षा दी जाती है.. और इस बाल मेले के आयोजन से आने वाले मुनाफे से इस स्कूल की व्यवस्था और दुरुस्त की जा सकेगी.. इसके अलावा बाल मेले में छोटे छोटे बच्चो ने यह भी सीखा की व्यवसाय कैसे किया जाता है.. बहरहाल शिक्षा कुटीर ने तो निशुल्क विद्यालय संचालित कर पहले ही मिशाल कायम की थी, लेकिन उनके इस प्रयास का हिस्सा बन कर सरगुजा पुलिस ने भी नायाब उदाहरण पेश किया है..
कार्यक्रम की रुपरेखा एसडीओपी अंबिकापुर गरिमा द्विवेदी ने बनाई थी. उनका कहना है कि उनके मन में ख्याल आया कि क्यों ना बच्चों को इस तरह का आयोजन करके गणित की बुनियादी तालीम दी जाए.बच्चे क्लासरुम में गणित का जोड़ घटाव तो पढ़ते हैं लेकिन इसका व्यावारिक इस्तेमाल कैसे किया जाए. इस बाल मेले में बच्चों को व्यावाहारिक ज्ञान मिला. उन्होंने बताया कि इस आयोजन का एक मकसद बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ाना था. मेले में बड़ी उम्र के लोग पहुंचे जिनके साथ उन्होंने सीधा संवाद किया. इससे उनका मनोबल बढ़ा. इस काम में सरगुजा पुलिस द्वारा तैयार महिला कमांडो को बच्चों के सहयोग के लिए लगवाया. ताकि बच्चों को श्रम का काम ना करना पड़े. इस मेले में बड़ी संख्या में स्थानीय लोग पहुंचे. सब यहां काफी खुश नज़र आ रहे थे. शिक्षाकुटीर शिक्षा को पर्यावरण से जो़ड़ने के लिए जाना जाता है..

  • 52
    Shares