इस मुग़ल बादशाह ने 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को मौत के घाट उतार दिया था अपनी बादशाहत के लिए…

55
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add

बादशाह लोग अपनी बादशाहत कायम करने के लिए कुछ भी कर गुजरते थे। प्राचीन इतिहास के पन्नों में कुछ ऐसी घटनाओं का जिक्र मिलता हैं। जिनके बारे में आम व्यक्ति सोच ही नहीं सकता। खासकर भारत के इतिहास में ऐसे कई दर्दनाक किस्से मौजूद हैं जब मुग़ल बादशाह ने अपने स्वार्थ के लिए अनेक लोगों की बलि चढ़ा डाली थी।

देखा जाए तो भारत में कई मुग़ल शासकों ने शासन किया और अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए उन्होंने बहुत लोगों को मौत के घाट उतारा। इस आलेख में आज हम आपको एक ऐसे क्रूर मुग़ल बादशाह के बारे में बता रहें हैं जिसने अपनी बादशाहत को कायम रखने के लिए करीब 2 करोड़ लोगों को मार डाला था।

तैमूरलंग चाहता था विश्व विजेता –

 

इस बादशाह का नाम “तैमूर लंग” था। इसी ने तैमूर वंश की नींव रखी थी और यह 14वीं सदी का सबसे क्रूर शासक था। तैरोओर का जन्म 1336 में ट्रांसोजियाना में हुआ था। इसे वर्तमान में उजबेकिस्तान कहा जाता हैं। इसका राज्य पश्चिमी एशिया से लेकर मध्य एशिया तक फैला हुआ था, पर फिर भी यह पूरी दुनिया को जीतने का ख्वाव देखता था।

2 करोड़ लोगों को उतारा था मौत के घाट –

इतिहास बताता हैं कि तैमूर लंगड़ा था पर फिर भी उसकी क्रूरता में कोई कमी नहीं आई। उसने मंगोल के अनगिनत लोगों को अपने स्वार्थ के लिए मौत के घाट उतार दिया था। इसके अलावा उसने मिलिट्री कैंपेन चलाकर करीब 2 करोड़ लोगों की बलि चढ़ा दी थी। उसने अपने सैनिकों को स्पष्ट आदेश दिया हुआ था कि जो भी उसके रास्ते में आए वह उसे मार दें। तैमूर पुरुषों की हत्या करा देता था और बच्चों तथा महिलाओं को गुलाम बना लेता था। तैमूर सिकंदर वाला सपना देखता था, वह भी विश्व विजय करना चाहता था और इसलिए उसने करीब 2 करोड़ लोगों की हत्या करा दी थी।

Hader add
Hader add