15 किमी तक बिना ड्राईवर के चलता रहा ट्रेन का इंजन, बाइक से पीछा कर रोका

352

जैसा की आप जानते ही हैं कि ट्रेन हमेशा अपने लोको पायलट के इशारों पर ही चलती हैं, पर हाल ही में एक ट्रेन स्वयं ही बिना ड्राईवर के 15 किमी तक चलती गई। हालांकी यह एक आश्चर्यजनक घटना हैं, पर असल में इस प्रकार की घटना से बड़ा हादसा भी घट सकता हैं। आपको बता दें कि यह घटना कर्नाटक के कलबुर्गी क्षेत्र में सामने आई हैं।

दरअसल वाडी रेलवे स्टेशन पर खड़ा एक रेलवे इंजन खुद ही आगे की ओर बिना ड्राइवर के ही चल पड़ा। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह इंजन 15 किमी तक खुद ही चलता गया। बाद में जब रेलवे विभाग को पता लगा तो इंजन के पीछे बाइक दौड़ा कर ड्राइवर को चढ़ाया गया और इंजन को काबू किया गया। इस घटना को जानकर सभी लोग स्तंब्ध हैं। आइये अब आपको विस्तार से बताते हैं इस घटना के बारे में।

इस संबंध में रेलवे विभाग ने बताया हैं कि यह घटना बीते बुद्धवार की हैं। उस समय दिन के करीब 3 बजे थे और चेन्नई-मुंबई ट्रेन वाडी रेलवे स्टेशन पर आयी थी। वाडी से शोलापुर तक रेलवे मार्ग का विधुतीकरण नहीं हुआ हैं इसलिए इस ट्रेन में डीजल इंजन लगाया गया था। डीजल इंजन लगाने के बाद ट्रेन शोलापुर के लिए रवाना हो गई पर ड्राइवर कि चूक की वजह से इलेक्ट्रॉनिक इंजन खुद ही आगे की और चल पड़ा।

जब तक रेल विभाग को पता लगता इंजन आगे निकल चुका था। उस समय रेलवे विभाग ने उस रुट पर आने वाली सभीट्रेनों को रुकवाया तथा इंजन के पीछे बाइक से ड्राइवर को भेजा गया। करीब 15 किमी के बाद ड्राइवर को इंजन मिला और उसको काबू किया गया। इस प्रकार एक बड़ा हादसा होने से बच गया। अभी तक यह पता नहीं लगा हैं कि आखिर ट्रेन का इंजन खुद आगे की ओर कैसे बढ़ गया था।