मध्यप्रदेश स्थापना दिवस समारोह के दूसरे दिन रंगारंग कार्यक्रम आयोजित

297

मध्यप्रदेश स्थापना दिवस समारोह के द्वितीय दिवस की संध्या पर जिला मुख्यालय स्थित वन परिसर में गायन, नाट्य, नृत्य तथा कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। इसके साथ ही समारोह में टॉयलेट एक प्रेम कथा, रायसेन किला तथा छतरपुर जिले के चरण पादुका स्मारक स्थल की डाक्यूमेंट्री फिल्म दिखाई गई। समारोह में जिला एवं सत्र न्यायाधीश विमल प्रकाश शुक्ला, कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे तथा एसपी जगत सिंह राजपूत ने गत दिवस आयोजित निबंध प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया। इसके साथ ही आयोजित कवि सम्मेलन के कवियों को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किए गए।
सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रथम कड़ी में रेवाराम ने ‘‘ऐसी माटी ना भारत के खण्ड-खण्ड में, जन्म दियो विधाता बुंदेलखण्ड में‘‘ लोक गीत प्रस्तुत किया। इसके पश्चात महिला बाल विकास विभाग के अंतर्गत श्रीमती लजिया लोधी द्वारा आल्हा गायन के माध्यम से दहेज प्रथा पर गीत प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम की अगली कड़ी में कुमारी ऊषा कुशवाह ने बेटियां बेटिया लड़के की तरह, लड़के की तरह पैदा होती है, लड़के की तरह मॉ की प्यारी होती हैं…. गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में श्रीमती सुषमा बघेल द्वारा बेटे का सम्मान है घर में बेटी का क्यों मान नहीं… दुनिया वालों मुझे बताओ क्या बेटी संतान नहीं….. गीत पर मार्मिक प्रस्तुति दी गई।
कार्यक्रम में महिला बाल विकास विभाग के दल द्वारा नाट्य अभिनय प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रमों अगली कड़ी में टॉयलेट एक प्रेम कथा, रायसेन किला (फोर्ट) तथा छतरपुर जिले के चरण पादुका स्मारक स्थल की डाक्यूमेंट्री फिल्म दिखाई गई। इसके पश्चात आयोजित कवि सम्मेलन में कु. प्रिया शुक्ला, आदर्श शर्मा, राम कुमार श्रीवास्तव, राजेश मालवीय,  एमएल बुनकर, संजय आहूजा, संघर्ष शर्मा, श्रीमती अमिता त्रिपाठी, राजेन्द्र सक्सेना, अमित ठाकुर तथा श्रीमती ममता दुबे द्वारा देशभक्ति से ओत-प्रोत कविताएं सुनाई गई। समारोह के अंत में रितेश एवं उनके दल द्वारा कालबेलिया नृत्य प्रस्तुत किया गया।

निबंध प्रतियोगिता के लिए इन्हें मिला पुरस्कार

समारोह में कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे द्वारा निबंध प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। निबंध प्रतियोगिता के तहत जूनियर वर्ग में कुमारी एलिना खान को प्रथम, कुमारी ज्योति गौर को द्वितीय, कुमारी मुस्कान शाक्या को तृतीय पुरस्कार तथा कुमारी तनु लोधी सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी प्रकार सीनियर वर्ग में पूनम विश्वकर्मा को प्रथम, साहेल प्रजापति को द्वितीय तथा भूमिका साहू को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। ओपन वर्ग में प्रफुल्ल कुमार को प्रथम, इमरत अगरिया को द्वितीय तथा राजकुमार लोधी को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम में अपर कलेक्टर श्री एमके जैन सहित अनेक अधिकारी, कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।