यहाँ की पुलिस लोगों को गुलदस्ता देकर कहती है फील गुड.. जाने क्या है वजह..?

319

बलरामपुर (कृष्ण मोहन कुमार) यातायात पुलिस ने दुपहिया वाहन चालकों में हेलमेट के प्रति जागरूकता लाने एक नायाब तरीका खोज निकाला है,और यह तरीका भी ऐसा की जिसकी चर्चाएं आम से खास हो चली है,यू तो पुलिस को वाहनों की सतत चेकिंग करते अक्सर सड़को पर देखा जा सकता है,और मोटरसायकल चलाते समय हेलमेट का उपयोग करने की सलाह वाहन चालकों को दी जाती, पर अब हेलमेट पहनकर सफर कर रहे लोगो को बलरामपुर यातायात शाखा के सूबेदार विकार नारंग की टीम फीलगुड कहकर गुलदस्ता भेटकर प्रोत्साहित करने में लगी हुई है।

बलरामपुर जिले से होकर नेशनल हाइवे 343 गुजरती है,और यह एनएच छत्तीसगढ़ को झारखंड से जोड़ती है,लिहाजा इस रूट से छोटे से लेकर मालवाहक वाहनों और यात्री बसो का परिचालन होता है,और वाहनों की तेज रफ्तार के चलते भी सड़क दुर्घटनाओं की आकड़ो में इजाफा हो रहा है,जिस पर लगाम लगाने यातायात पुलिस  कर्तव्यनिष्ठ होकर अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए,एनएच में जगह जगह कैम्प लगाकर लोगो को सड़क दुर्घटनाओं से बचने जागरूक कर रही है,इसके साथ ही पुलिस हेलमेट के उपयोग को बढ़ावा देने लोगो को समझाइश देते नजर आ जाती है। दरसल यातायात पुलिस हेलमेट पहनकर दुपहिया वाहनों में सफर करने वाले वाहन चालकों को गुलदस्ता भेंट कर रही है,और हेलमेट से होने वाली फायदों के बारे में भी लोगो को बता रही।

पुलिस का नाम सुनते ही लोगो के दिमाग पर खाकी वर्दी और पुलिसया रौब की यादे ताजा हो जाती है,और सड़क पर बगैर हेलमेट और ड्राइविंग लाइसेंस के सफर कर रहे लोग अचानक यातायात पुलिस को देखकर भागने लगते है,यही नही सड़को पर ट्रैफिक पुलिस की कैम्पेनिंग देखकर लोगो के दिमाग मे वसूली जैसे शब्द घर कर जाती है,लेकिन इन सबसे परे कल एक अलग ही रूप दिखा ट्रैफिक पुलिस का,जो कि काबिले तारीफ तो है ही,इसके अलावा खुद में अहसास करने की वजह भी पैदा कर देता है।