सफ़दरजंग का मकबरा..

473

हुमायूं के मकबरे की परंपरा में सफदरजंग का मकबरा दिल्‍ली का अंतिम परिबद्ध (चारों तरफ से बंद) बागीचों वाला मकबरा है, यद्यपि यह इतना भव्‍य नहीं है। 1753-54 में निर्मित मकबरा यह मुगल शासक मोहम्‍मद शाह के अधीन रहे अवध के नवाब सफदरजंग की कब्रगाह है।

 

इसमें कई मंडप है जिन्‍हें विचित्र नामों जैसे : जंगल महल (पैलेस ऑफ वुड्स) मोती महल (पर्ल पैलेस) और बादशाह पसंद (किंग्स फेवॅरिट) से जाना जाता है।

 

इसके परिसर में एक मदरसा भी है। भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण द्वारा इसके मुख्‍य द्वार पर एक पुस्‍तकालय चलाया जाता है।

 

कहां स्थित है: अरबिंदो मार्ग पर

सफ़दरजंग रोड के साथ
नज़दीकी मेट्रो स्टेशन: जोर बाग
खुलने के दिन: प्रतिदिन
समय: सूर्योदय से सूर्यास्त तक
प्रवेश शुल्क: 5 रु. (भारतीय),
100 रु. (विदेशी)
फोटोग्राफी प्रभार: निःशुल्क (स्टिल कैमरा),

25 रु. (वीडियो कैमरा)