VEDIO हाथियों के दहशत में जीवन यापन कर रहे है ग्रामीण

286

हाथियो ने प्रतापपुर व सूरजपुर के वनपरिक्षेत्र मे मचा रखा है आंतक

ग्रामीण भयभित होकर जीवन-यापन करने पर मजबूर 

जरही/भटगांव (बिट्टू सिंह राजपूत) प्रतापपुर रेंज से निकल कर अब  सूरजपुर वन परिक्षेत्र मे भी हाथियो के आंतक से थर्राया हुआ है.. सूरजपुर वनपरिक्षेत्र व प्रतापपुर के कई ग्रामिण इलाके बेबशी की जिंदगी जीने को मजबूर हो रहे है। ऐसे मे ग्रामीण खुद को असहाय महसूस करने लगे है। मिली जानकारी के मुताबिक प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के कोरंधा मे दहशत फैलाने के बाद हाथीयो के एक दल सुरजपुर वनपरिक्षेत्र के डुमरीया बुंदीया तमोर मे भी रातभर आंतक मचाये हुए है.. जिससे रात भर ग्रामिणो को रतजगा करना पड रहा है। बताया जा रहा है कि कोरंधा मे करीब 7 किसान के खेत मे लगे धान कि फसल को रौंद कर हाथी दो दल मे बट गये जहा एक दल सुरजपुर वनपरिक्षेत्र के डुमरीया मे करीब  10 बजे ही रमानंद विश्वकर्मा के घर को तोड घर मे रखे करीब 10किंटल धान चावल को चट कर दिया, साथ ही बर्तनो को कुचल कर नष्ट कर दिये,  वही रामप्रसाद पाटले का धान के 1 एकड फसल को भी रौंद कर नष्ट कर रात भर गाव मे आंतक मचाते रहे। वही वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अभी सुरजपुर व प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के जंगलो मे अभी अलग अलग दल मे करीब 16 व 2कि संख्या मे सरहरी के जंगल मे हाथी विचरण कर रहे है। बताया जा रहा है कि दल मे दतैल सहित चार बच्चे भी है, जो कि प्रतापपुर रेंज के दुरती बंशीपुर बगडा भरदा सहित आसपास के कई गावो मे करीब आधा दर्जन लोगो को मौत के घाट भी उतार चुके है। बहरहाल हाथी जिले में रिहायशी इलाको के इतने करीब आ चुके है की हाथियों के विचरण का वीडियो हमारे संवाददाता ने बानया…

यो से दूर रहने कि दी जा रही है समझाईस 

बंशीपुर बीट प्रभारी शैलेश गुप्ता ने बताया कि हाथियो से दूर रहने ग्रामीणों को समझाईस लगतार दी जा रही है इसके बाद भी हाथियो के नजीदक लोग पहुच जा रहे। किसानो के नुकसान हुए फसलो को उचित मुआवजा भी दिया जा रहा है।

वीडियो में देखिये खतरनाक हाथीयो का दल आबादी के नजदीक