अपनी मौत के 3 मिनट बाद जी उठा यह शख्स, बताई मृत्यु के बाद की सच्चाई

319

आपने कभी सुना है कि कोई शख्स मरने के बाद फिर से जिंदा हो गया हो? यदि नहीं, तो आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स से मिलवा रहें हैं जोकि मरने के बाद फिर से जीवित हो उठा तथा इसके बाद उसने अपनी आपबीती लोगों को बताई। देखा जाएं तो इस प्रकार की घटनाएं झूठी ही लगती है और किसी भी आम व्यक्ति को ऐसी घटनाओँ पर सहज विश्वास नहीं आता है, पर आज हम आपको जो बता रहें हैं वह इस सप्ताह की रोचक घटनाओं में से एक है।

दुनिया का हर शख्स यह जानना चाहता है कि मृत्यु के बाद आखिर होता क्या है? पर इसका जवाब आज तक किसी को नहीं मिल पाया था, लेकिन दोबारा से जीवित होने वाले एक व्यक्ति ने इस राज से पर्दा उठा दिया है और बताई है मृत्यु के बाद की सच्चाई। इस व्यक्ति का नाम वाल्टर स्नो-बॉल विलियम्स है। इस व्यक्ति ने दोबारा जीवित होने के बाद मरने के अपने अनुभव को सभी लोगों के साथ शेयर कर, उस सच्चाई से अवगत कराया है जिसके बारे में हम लोग आज तक नहीं जानते हैं।

2011 में इस 57 वर्षीय व्यक्ति को एक अस्पताल में किसी बीमारी के इलाज के लिए भर्ती कराया गया था, पर ऑपरेशन थियेटर में विलियम्स को हार्ट अटैक आ गया, जिसके बाद में ऑक्सीजन की कमी के कारण विलियम्स के मस्तिष्क ने कार्य करना बंद कर दिया था और इसके बाद में तकनीकी तौर पर विलियम्स को डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। इसके करीब 3 मिनट बाद में ही विलियम्स ने अपनी आंखें खोल दी और जो बताया उस पर विश्वास करना बेहद ही मुश्किल था।

विलियम्स ने मौत के बाद में अस्पताल के उन लोगों के बारे में बताया जिनसे वह कभी नहीं मिला था। साथ ही वह सब भी बताया जोकि उसकी मृत्यु के बाद ऑपरेशन थियेटर में हुआ था। विलियम्स ने कहा कि वे अपनी मौत के 3 मिनट बाद भी सब कुछ देख सुन रहा था, वे 3 मिनट की अपनी मृत्यु के दौरान उस स्थान पर ही था तथा सब कुछ अनुभव कर रहें था।

सबसे चकित कर देने वाली बात यह रही कि विलियम्स ने जो कुछ भी बताया था हॉस्पिटल स्टाफ ने उन सभी बातों को सही बताया। विलियम्स ने कहा कि उनको दोनों ओर से आवाजें आ रही थी, एक हॉस्पिटल स्टाफ की थी तथा एक अन्य महिला की थी जो उनको छत के रास्ते अपने साथ ले जाना चाहती थी। विलियम्स ने बताया कि उन्हें लगा कि जैसे यह महिला उनकी परिचित है, पर कुछ समय बाद उनको एक झटका लगा और उनकी आंखें खुल गई थी। इस प्रकार से विलियम्स अब दोबारा से जीवित हो गए थे।