प्रतापपुर थानेदार ने कहा व्यक्तिगत रंजिश रखने वालो की साजिश, पढिये मामले की पूरी कहानी..?

308

अम्बिकापुर -देश दीपक “सचिन”

 

सूरजपुर जिले के प्रतापपुर थाना प्रभारी दीपक भारद्वाज पर लगातार लग रहे गंभीर आरोपों के बीच फटाफट न्यूज ने मामले की तह तक जाने का प्रयास किया.. और मामले में लगे सभी आरोपो पर थाना प्रभारी दीपक भारद्वाज से चर्चा की..फटाफट न्यूज से चर्चा करते हुए दीपक ने अपना दर्द बताया और कहा की मै युवा हूँ और पढ़ा लिखा हूँ मैने पुलिस की नौकरी सेवा करने के लिए की है वरना किसी अन्य विभाग की नौकरी करता जाहिर है की युवा हूँ और शिक्षित हूँ तो मेरे काम करने की गति तेज है और बेहतर और स्मार्ट पुलिसिंग में विश्वास रखता हूँ..दीपक ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा की उन पर आरोप लगाने वालो को ये सोचना चाहिए की मेरी जगह अगर उनका छोटा भाई होता तो उनको कैसा लगता..मै ईमानदारी से अपना काम कर रहा हूँ और लोग मेरा मनोबल गिराने का काम कर रहे है..साथ ही अपनी आप बीती बताते हुए दीपक भारद्वाज ने यह भी कहा की मेरे मन में पत्रकारों के लिए बहोत सम्मान है..क्योकि मेरे कई सहपाठी है जिन्होंने बीजेएमसी का कोर्स किया है और आज पत्रकार है मैंने भी बीजेएमसी के लिए फ़ार्म भरा था लेकिन कुछ कारणों से उसकी पढ़ाई नहीं कर सका..भला मै कभी कैसे पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार कैसे कर सकता हूँ.. इस बात चीत में फटाफट न्यूज ने थाना प्रभारी दीपक भारद्वाज से चार सवाल किये और उसका जवाब बड़ी ही सहजता से उन्होंने दिया….

 

सवाल : आप पर दबंग थानेदार होने का आरोप लगा क्या कहेंगे..?

 

जवाब : मैंने तो कभी खुद को दबंग नहीं समझा मै तो बस स्मार्ट वर्क करता हूँ लोग इसे दुष्प्रचारित करते है

 

सवाल : भैसामुडा के एक शख्स ने गंभीर आरोप लगाये थे क्या कहेंगे..?

 

जवाब : भैसामुडा के जिस व्यक्ति ने मुझ पर आरोप लगाए है वह उसका नाम पहले से ही थाने की गुंडा सूची में दर्ज है और ऐसे लोगो की नियमित जाँच करना मेरा फर्ज है..उसी की जांच के लिए मै गया हुआ था…वो शख्स नशेड़ी भी  है और नशे का लालच देकर लोगो ने उसे मेरे खिलाफ बरगलाया और शिकायत करवाई..

 

सवाल : एक महिला ने आप पर छेड़ छाड़ करने व अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया है क्या कहेंगे..?

 

जवाब : जिस महिला ने आरोप लगाया है वह नशे का कारोबार कर लोगो को अपने जाल में फंसाती है मेरे एक अन्य महिला अपने दो तीन देवर, ससुर व नशामुक्ति केंद्र अम्बिकापुर के कुछ लोग आये थे और महिला ने विनती कर बताया की जिस महिला ने उसके पति को अपने घर में रख लिया है वो वहा जाने के बाद उनके साथ मारपीट करती है और पुलिस को साथ में चलने का निवेदन की जिसके बाद वहा आये सभी लोगो के साथ मै वहाँ गया कुल 15-16 लोग गए थे और मुझे पहले से संदेह था की वहा कुछ ऐसा हो सकता है इस लिहाजा से मैंने पूरे मामले की वीडियो भी बना ली थी..और हम सब वहा गए और पीड़ित महिला के पति को वहा से छुडा कर नशा मुक्ति केंद्र वालो व परिजनों के हवाले किया..इस सम्बन्ध में पीड़ित महिला ने सरगुजा आई जी को पत्र लिखकर मेरे पक्ष में पूरी हकीकत बता दी है…

 

सवाल : स्थानीय पत्रकारों ने आप पर उन्हें फांसी पर लटका देने की धमकी व गालियाँ देने का आरोप लगाया है इसमें क्या सच्चाई है..?

 

जवाब : मै एक पढ़ा लिखा इंसान हूँ और सार्वजनिक स्थान पर वो भी पत्रकारों को गाली कैसे दे सकता हूँ..मै तो पत्रकारों का बहोत सम्मान करता हूँ…कुछ लोग व्यक्ति गत रंजिश के कारण मेंरे खिलाफ षडयंत्र कर रहे है उन लोगो से मै यही कहना चाहूंगा की अगर मै पुलिस में हूँ तो इसका ये मतलब नहीं की मै अपने पद का दुरुपयोग करना शुरू कर दू इसी प्रकार अगर कोई पत्रकार है उसे भी अपने पद की गरिमा के अनुसार काम करना चाहिए..

 

बहरहाल फटाफट से हुई इस विशेष बात चीत के दौरान थाना प्रभारी दीपक भारद्वाज भावुक हो गए अपना पूरा दर्द शब्दों में उकेर कर रख दिया उन्होंने कहा की मै सिर्फ ईमानदारी से काम करना चाहता हूँ..और पुलिस को काम करने के लिए जनता का साथ चाहिए अगर लोग मेरा साथ नहीं देगे तो उनकी ही भालाई के लिए मै कैसे काम कर सकूंगा..