उ.प्र. में टीम योगी में किसे मिली जगह.. कैसे हुआ आयोजन..?

110
Hader add
Hader add
Hader add
Hader add

लखनऊ

शनिवार को विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी आदित्यनाथ ने राज्य के 21वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है। उनके बाद केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा ने डिप्टी सीएम के रूप में शपथ ग्रहण की। शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ ने लालकृष्ण आडवाणी के चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया। इन तीनों के बाद 22 विधायकों ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली जबकि 24 राज्य मंत्रियों ने शपथग्रहण की।

इसके बाद उनके मंत्रीमंडल के लिए 46 विधायकों को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई जा रही है। इनमें कैबनेट मंत्री के रूप में सूर्य प्रताप शाही, सुरेश खन्ना, बसपा से भाजपा में आये पूर्व नेता विरोधी दल व पडरौना से 4थी बार विधायक बने स्वामी प्रसाद मौर्य, सतीश महाना, राजेश अग्रवाल, रीता बहुगुणा जोशी, दारा सिंह चौहान, धरम पाल सिंह, एसपी सिंह बघेल, सत्यदेव चौधरी, रमापति शास्त्री, जयप्रताप सिंह, ओम प्रकाश राजभर, ब्रजेश पाठक, लक्ष्मी नारायण चौधरी, चेतन चौहान, श्रीकांत शर्मा, राजेंद्र प्रताप सिंह, सिद्धार्थ नाथ सिंह, मुकुट बिहारी वर्मा, आशुतोष टंडन, नंद गोपाल नंदी ने पद और गोपनीयता की शपथ ली।

राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में अनुपमा जयसवाल, सुरेश राणा, उपेन्द्र तिवारी, डॉ. महेन्द्र कुमार सिंह,धर्म सिंह सैनी, अनिल राजभर और स्वाती सिंह ने पद और गोपनीयता की शपथ ली।

इनके बाद राज्यमंत्री के रूप में गुलाब देवी, जयप्रकाश निषाद, अर्चना पांडे, अतुल गर्ग, रणवेंद्र प्रताप सिंह, मोहसिन रजा ने पद और गोपनीयता की शपथ ग्रहण की।इस भव्य शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए पीएम मोदी भी मंच मौजूद हैं। लखनऊ एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाइक, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और योगी आदित्यनाथ ने खुद एयरपोर्ट पहुंचकर उनका स्वागत किया। मोदी के अलावा एलके आडवाणी, मुरलीमनोहर जोशी, वैंकेया नायडू के अलावा कई राज्यों के मुख्यमंत्र और अन्य बड़े नेता यहां पहुंचे हैं। इन सबके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मुलायम सिंह भी शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी शपथग्रहण में हिस्सा लेने के लिए मंच पर पहुंचे और वहां मौजूद सभी नेताओं से मुलाकात की।

भव्य आयोजन

शपथ ग्रहण के लिए भारी सुरक्षा व्यवस्था के लिए सात एसपी और 24 एएसपी समेत 34 कंपनी फोर्स समेत पुलिस का जबरदस्त अमला तैनात की गई है।अतिथियों के लिए श्रेणीवार दीर्घा बनाई गई है। हर निमंत्रण पत्र में शपथ ग्रहण स्थल के किस दीर्घा में स्थान ग्रहण किया जाना लिखा है। मुख्यमंत्री, मंत्री के लिए अलग दीर्घा और उनके परिवार और रिश्तेदारों के बैठने के लिए अलग श्रेणी की व्यवस्था होगी। शासन स्तर पर इस आयोजन को भव्य रूप देने के लिए तैयारी पूरी हो गई है। शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कई केंद्रीय मंत्री, दर्जन भर राज्यों के मुख्यमंत्री, उद्योगपतियों समेत अति विशिष्ट अतिथियों के आने के संकेत मिले हैं। राजभवन की ओर से मानक सूची के अनुसार विशिष्ट अतिथियों को निमंत्रण पत्र निर्गत होंगे। मनोनीत मुख्यमंत्री एवं मंत्रियों के रिश्तेदारों, मित्रों एवं अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के लिए भी आमंत्रण पत्र जाएंगे।

भारी सुरक्षा व्यवस्था

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को देखते एसपीजी की टीम लखनऊ में है। एडीजी दलजीत सिंह चौधरी के मुताबिक सुरक्षा के लिए सात पुलिस अधीक्षक, 24 अपर पुलिस अधीक्षक, 50 उपाधीक्षक, 550 दारोगा-इंस्पेक्टर, 3370 सिपाही, 18 कंपनी केंद्रीय अद्र्धसैनिक बल, 16 कंपनी पीएसी और 500 यातायात पुलिसकर्मी लगाए गये हैं। शपथ ग्रहण समारोह स्थल पर भव्य मंच और पंडाल लगेगा। डीएम और एसएसपी को सोफे, कुर्सियों, माइक, पंखों के अलावा बैरीकेडिंग, वाटर प्रूफ शामियाने की व्यवस्था के निर्देश दिए गये हैं। समारोह स्थल पर वीवीआइपी श्रेणी के लिए निर्धारित दीर्घा के अलावा 70 हजार कुर्सियों की व्यवस्था के निर्देश दिए गये हैं। समारोह स्थल पर कई प्रवेश द्वार बनाये जाएंगे। शपथ ग्रहण समारोह स्थल पर राष्ट्रीय गान होगा। इसके लिए पीएसी बैंड को अधिकृत किया गया है। जिम्मेदारी एसएसपी को दी गयी है।

शपथ से पहले ही एक्शन में योगी

यूपी सीएम रूप में शपथ लेने से पहले ही योगी एक्शन में आ गए हैं। उन्होंने यूपी डीजीपी से कहा है कि जश्न के नाम पर किसी तरह का भी हुड़दंग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Hader add
Hader add
Hader add
Hader add