संक्रांति के अवसर पर सरगुजा की बेटी ने देश को समर्पित किया कैशलेस SONG-समाचार में सुने कैशलेस SONG..!

220

अम्बिकापुर -देश दीपक “सचिन”

अम्बिकापुर में कैसलेश लेन देन के लिए चल रहे सरकारी प्रयासों के बीच शहर की एक बेटी आकांक्षा चंद्राकर ने कैशलेस गीत बनाया है और उसे खुद ही गया भी है, आकांक्षा ने कैशलेस के लिए लोगो को जागरूक करने के उद्देश्य से बड़ा ही मोहक गीत बनाया है जिसके बोल है “सुनो सखी सुनो सखी कैशलेस हो जाओ सभी” अपने द्वारा बनाये गए इस गीत के माध्यम से आकांक्षा समाज में लोगो को कैशलेस के प्रकति जागरुक करना चाहती है और इसमें उनका साथ देते है उनके छोटे भाई जैसे महज 14 वर्ष के अभिषेक सारथी जो आकांक्षा के गीतों को अपनी ढोलक की ताल से और भी खूबसूरत बना देते है।

कैशलेस के लिए गीत बनाने के पीछे की वजह आकांक्षा बताती है की अम्बिकापुर कलेक्टर श्री भीम सिंह के आदेश पर सहायक कलेक्टर नुपुर राशी पन्ना द्वारा उनको एक ऐसा गीत बनाने के लिए प्रेरित किया गया था जिसके बाद आकांक्षा ने इस गीत को खुद लिखा और गाया। साथ ही आकांक्षा बताती है की बचपन से ही उनकी संगीत में रुची रही है लेकिन उन्होंने कभी किसी से संगीत नहीं सीखा और साथ में ढोलक बजा रहे अभिषेक सारथी समय सामय पर आकांक्षा के साथ उनके गीतों में ढोलक बजाते है और उनका मार्गदर्शन भी करते है। बहरहाल बिना किसी तालीम के इन छोटे बच्चो में इतना हुनर है अगर सही तालीम मिली होती तो ना जाने ये बच्चे छत्तीसगढ़ का नाम कहा कहा रोशन करते, फिलहाल आकांक्षा ने प्रधान मंत्री के डिजिटल इंडिया के सपने को पूरा करने के उद्देश्य से कैशलेस गीत बनाया है, और देखना ये है की यह गीत कैशलेस के क्षेत्र में क्या रंग लाएगा।

सुनिए आकांक्षा का कैशलेस गीत –