अपनी जान बचाने ग्रामीणों ने हाथी को मार कर दफनाया..!

66

बलरामपुर 

वाड्रफनगर क्षेत्र के ग्राम धौरा गाँव में दस दिन पूर्व घुसे हाथियों के दल से एक हाथी के गयाब हो जाने की खबर ने नया मोड़ ले लिया है, जानकारी के मुताबिक़ धौरा गाँव में जब हाथियों का दल प्रवेश किया तब हाथियों के आतंक से परेसान ग्रामीणों ने एक हाथी को करंट लगाकर मौत के घाट उतार दिया, और हाथी के शव को जंगल में ही दफना दिया शव को दफना देने के कारण हाथी के मौत की खबर किसी को नहीं लगी, लेकिन हाथी को मारे जाने की बात धीरे धीरे फ़ैल गई और वन विभाग को इसकी भनक लग गई है, जिसके बाद डी ऍफ़ ओ रेंजर वन विभाग की पूरी टीम के साथ घटना स्थल के लिए रवाना हो चुके है, मामले की पूरी हकीकत और आरोपियों के नाम का खुलासा हाथी के पोस्टमार्टम के बाद ही हो सकेगा।

गौरतलब है की क्षेत्र में हाथियों की मौत की यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी हाथियों की मौत करंट लगने से हो चुकी है, सम्पूर्ण सरगुजा में इंसान और हाथियों के बीच जिन्दगी की जंग छिड़ी हुई है इस जंग में कभी इंसान की जान जाती है तो कभी हाथियों की जान जा रही है, और वन विभाग हाथियों की मौत पर कानूनी कार्यवाही करता है और इंसानी जान जाने से उनके परिजनों को मुआवजा देकर मामला ख़त्म कर देता है।