Monday , January 22 2018
Home / हमारा छत्तीसगढ़ / दुर्ग-भिलाई / जमीन मामले में अखिलेश यादव गिरफ्तार….

जमीन मामले में अखिलेश यादव गिरफ्तार….

दुर्ग “हितेश शर्मा”

जिम्मेदारी थी मरीजो को ठीक करने की…. डॉक्टर भी अच्छे थे …. इलाज भी अब तक अच्छा किया…  जिला अस्पताल में rmo की जिम्मेदारी भी सम्भाल रहे थे…  लेकिनएक  छोटी सी गलती ने उनको आज पुलिस के हत्थे चढ़ा दिया मामला 420 से जुड़ा है डॉक्टर साहब ने धोखा धडी की और पंहुच गए जेल ।

क्या है पूरा मामला आइये आपको बताते है दरअसल दुर्ग जिला अस्पताल के अस्थि रोग विशेषज्ञ अखिलेश यादव को आज आखिरकार दुर्ग कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया डॉ. अखिलेश यादव के खिलाफ तीन वर्ष पहले सिटी कोतवाली में अपराध दर्ज था। इस मामले में पुलिस ने डॉ. अखिलेश यादव की पत्नी रीता यादव को भी आरोपी बनाया है। हालांकि उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई थी । अखिलेश यादव ने अपनी पत्नी के नाम की जमीन को बेचने अनिल पांडेय से इकरारनामा किया था। डॉक्टर ने अपनी पत्नी की जगह इकरारनामा पर अन्य महिला को खड़ी कर फोटो व हस्ताक्षर करवाया था। तीन साल पहले इसकी शिकायत की गई थी।

मामले का खुलासा होने पर आरोपी डाक्टर की पत्नी अपने पति का ही पक्ष ले रही है। पुलिस का कहना है कि आरोपी चिकित्सक जमीन बेचने के एवज में नौ लाख रुपए ले चुका है। रकम वापसी नहीं करने के कारण आरोपी को गिरफ्तार कर देर शाम न्यायालय में पेश कर दिया गया ।

जिला चिकित्सालय के ऑर्थो स्पेशलिस्ट व आरएमओ डॉ. अखिलेश यादव को सीटी कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। डॉ. अखिलेश यादव के खिलाफ तीन वर्ष पहले सिटी कोतवाली में अपराध दर्ज था। इस मामले में पुलिस ने डॉ. अखिलेश यादव की पत्नी रीता यादव को भी आरोपी बनाया है। हालांकि उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

जमीन बेचने का मामला

जानकारी के मुताबिक अखिलेश यादव ने अपनी पत्नी के नाम की जमीन को बेचने अनिल पांडेय से इकरारनामा किया था। डॉक्टर ने अपनी पत्नी की जगह इकरारनामा पर अन्य महिला को खड़ी कर फोटो व हस्ताक्षर करवाया था। तीन साल पहले इसकी शिकायत की गई थी।

आरोपी का पक्ष लिया पत्नी ने

मामले का खुलासा होने पर आरोपी चिकित्सक की पत्नी अपने पति का ही पक्ष ले रही है। पुलिस का कहना है कि आरोपी चिकित्सक जमीन बेचने के एवज में नौ लाख रुपए ले चुका है। रकम वापसी नहीं करने के कारण आरोपी को गिरफ्तार कर देर शाम न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Check Also

पिछले 5 महीने से अधूरा है नाली निर्माण…ग्रामीण परेशान..!

बतौली (निलय त्रिपाठी) क्षेत्र के सेदम में नाली निर्माण का कार्य भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ …

Leave a Reply