जोगी का खुमार…भाजपा कांग्रेस को बुखार…..

187

रायपुर

सोशल मीडिया में ताजा हलचल भाजपा ने जमकर बांटी रेवडिया… मोर्चा से लेकर प्रकोष्ठों तक ज्यादा से ज्यादा पदों के बंटवारे की मानो बाढ़ सी आ गई है… इस दौरान सोशल मीडिया में बम्फर नियुक्तियों पर महासेल टाइप की बम्पर बधाइयों से सोशल मीडिया का बाजार भी गर्म है और जोगी के खुमार से दोनो दलो के नेताओ को नेताओ के शरीर भी गर्म है….. 

सोशल मीडिया में लगातार आ रहे नोटिफिकेशन आम लोगो के लिए जंहा सर का दर्द बन गए है तो वही इन नियुक्तियो से इत्फाक रखने वालो में अच्छा खासा उत्साह है । इधर जोगी के बढ़ते कद से सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार कुछ ज्यादा ही गर्म है । सार्वजनिक स्थलो की चर्चा के मुताबिक,,,,  जुबानी जंग मे जोगी को कम आंकने का दिखावा करने वाले सियासी दल के नेता जोगी के प्रभाव से इतना हताश है कि वो अपने उन कार्यकर्ताओ को भी वजन देने लगे है कि जिनका वजन पहले उनके तराजू मे नपाता ही नही था ,,,  जोगी के पार्टी बनाने और पार्टी की ग्राउण्ड लेबल चहलकदमी देखने के बाद दोनो दलो मे भगदड मची हुई है…. आलम ये है कि भाजपा और कांग्रेस दोनो खेमे में इन दिनो जोगी वायरल का प्रकोप आसानी से देखा जा सकता है। 

प्रदेश की दोनों बड़ी पार्टियो की नींद उड़ने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अभी चुनाव को तकरीबन 2 साल बचे है … लेकिन दोनो दल के नेताओ की भडभडाहट ने ऐसा माहौल बना दिया है .. मानो 6 महीने बाद ही चुनाव होना हो … बहरहाल सूबे के सियासती हालात देखकर इस बात से इंकार नही किया जा सकता है कि जोगी की पार्टी का ग्राफ दिन प्रतिदिन बढता जा रहा है। जिससे दोनो दलो के भीतर भडभडाहट और घबराहट दोनो बढी है। बहरहाल ये तो साफ दिखने लगा है कि सत्ताधारी भाजपा और वर्षो से सत्ता मे आने का सपना संजोए कांग्रेस के लिए जोगी का दल बड़ी चुनौती बनकर उभर रहा है। 

मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह चौथी बार सत्ता मे आने का सपना देख रही भाजपा के राज्य स्तरीय नेता चुनाव तैयारियो की तरह मे जुट गए है.. जिसके तहत मोर्चा और प्रकोष्ठों मे पद रुपी रेवड़ियाँ जमकर बाँटी जा रही है। लेकिन दूसरी ओर पिछले डेढ दशक तक सत्ता का सुख भोगने की चाहत मे कांग्रेस अनचाहे और मनचाहे आंदोलनों  को कर अपने आप को जनता का हितैषी बताने का प्रय़ास कर रही है…… तो साहब ये जो “जनता  है ये सब जानती है”  कि दहशत चुनाव का है या जनता कांग्रेस का…