फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने जडेजा पर दर्ज किया केश..शेरों के झुंड के पास जाकर ली थी फोटो,

165
गुजरात
जूनागढ़ गिर सफारी के दौरान शेरों के साथ फोटो खिंचवाना टीम इंडिया के क्रिकेटर रवींद्र जडेजा को महंगा पड़ गया। गुरुवार को फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने उनके खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जडेजा वाइफ रीवाबा के साथ बुधवार को यहां पहुंचे थे। फोटोज वायरल होने के बाद फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने केस दर्ज किया। बता दें कि यहां गाड़ी से उतरकर शेरों के साथ फोटो खिंचवाने पर रोक है।
फॉरेस्ट डिपार्टमेंट का तर्क
गिर नेशनल पार्क एंड सैंक्चुअरी (जीएनपीएस) के चीफ कन्जर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट (सीसीएफ) का कहना है “हमने पार्क के सुपरिन्टेंडेंट को इस मामले की जांच कर रिपोर्ट देने के ऑर्डर दिए हैं।”
वहीं, जीएनपीएस सुपरिन्टेंडेंट राम रतन नाला का कहना है- ”हमेंं पता चला है कि रवींद्र जडेजा ने गाड़ी से उतरकर शेरों के बीच सेल्फी ली थी। उस समय दो अफसर भी मौजूद थे। हम मामले की जांच कर रहे हैं। सफारी में किसी गाड़ी या जिप्सी से उतरना अपराध है।”
सफारी के दौरान गाड़ी से उतरना है प्रतिबंधित
गिर सफारी में जडेजा और उनकी वाइफ ने जिप्सी से उतरकर शेरों के काफी नजदीक जाकर फोटो खिंचवाई थीं।
ऐसा कहा जा रहा है कि वे शेरों से करीब 12 से 13 फीट की दूरी पर बैठे थे। ऐसा करना यहां गैर-कानूनी है और जोखिमभरा भी।
एक दूसरी फोटो में वे दोस्तों और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के स्टाफ के साथ नजर आ रहे हैं।
फोटो वायरल होने पर हुआ विवाद
जडेजा ने शेरों के झुंड के साथ अपनी और पत्नी की फोटो ली। इसके बाद फैन्स के साथ सेल्फी भी खिंचवाई।
सोशल मीडिया पर ये फोटोज वायरल होने के बाद लोगों ने आपत्ति उठानी शुरू कर दी थी।
16 जून से बंद हुआ गिर सफारी
गिर सफारी को मानूसन के दौरान चार महीनों के लिए बंद कर दिया जाता है। फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के मुताबिक, यह मौसम शेरों की मेटिंग का समय होता है। आमतौर पर ज्यादातर शेरनियां इसी मौसम में शावक को जन्म देती हैं। शावकों की सिक्युरिटी को लेकर शेरनियां बहुत चौकन्नी रहती हैं। इस दौरान वे खतरनाक हो जाती हैं।गिर फॉरेस्ट 16 जून को बंद हो गया। यह अब 15 अक्टूबर को खुलेगा।