बाल गृह का नियमित रूप से निरीक्षण करने पर बल

297

नारायणपुर

दत्तक ग्रहण हेतु ऑनलाईन होगा आवेदन
ग्राम पंचायतों में पलायन पंजी का संधारण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जाये-कलेक्टर

 

जिला मुख्यालय नारायणपुर में स्वयंसेवी संस्था रामकृष्ण मिशन आश्रम के द्वारा संचालित बाल गृह का नियमित रूप से निरीक्षण करने स हित उक्त संस्था के सुचारू संचालन और बच्चों के देख-रेख हेतु समुचित पहल किया जायेगा। वहीं जिले मुख्यालय में संचालित वृद्धा आश्रम के रहवासी वृद्धजनों का नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण कराया जायेगा। दत्तक ग्रहण के लिए पालक एवं अभिभावकों द्वारा अब ऑनलाईन अभ्यावेदन प्रस्तुत किया जायेगा। वहीं जिले में अवैध प्रवास को रोकने हेतु परिवहन साधनों का सजगता से निरीक्षण किया जायेगा। इसके साथ ही पंचायतों में पलायन पंजी का संधारण कर काम की तलाश में बाहर जाने वाले श्रमिकों का रिकार्ड रखा जायेगा और संबंधित ग्राम पंचायतों द्वारा हर महीने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जायेगा। उक्त निर्णय कलेक्टर  टामनसिंह सोनवानी की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय बाल संरक्षण समिति तथा जिला स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक के दौरान लिया गया। बैठक में अपर कलेक्टर  एमएस ओट्टी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एसके कनवर, जिला शिक्षा अधिकारी  एके पटेल, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जीआर शोरी, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी  लुपेन्द्र महिलांग, उप पुलिस अधीक्षक  सीडी तिर्की के अलावा जिला स्तरीय बाल संरक्षण समिति तथा जिला स्तरीय सलाहकार समिति के सदस्य अधिकारी, जनप्रतिनिधी और स्वैच्छिक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद थे।

बैठक के दौरान बालगृह संचालन के लिए वार्षिक कैलेण्डर तथा प्रावधानों का परिपालन सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया गया। वहीं बालगृह में रखे गये बच्चों का उम्र के आधार पर वर्गीकरण कर उनके लिए आवासीय व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने कहा गया। इसके साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा स्कूलों के बच्चों की चिकित्सा हेतु चिरायु योजनांतर्गत नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उपचार सुविधा सुलभ कराये जाने का निर्देश दिया गया। वहीं पंचायत स्तरीय बाल संरक्षण समितियों की बैठक कर आवश्यता एवं देख-रेख वाले बच्चों को चिन्हित किये जाने का निर्देश दिया गया। बैठक में जिले से बाहर रोजगार हेतु प्लैसमेंट कराने वाले संस्थाओं एवं प्रतिभागियों के बारे में अवगत कराये जाने हेतु कौशल उन्नयन प्रशिक्षण केन्द्रों के प्रमुखों को निर्देश दिया गया। वहीं जिले में अवैध प्रवास को रोकने के लिए पुलिस थाना एवं चौकियों के जरिये परिवहन साधनों का सजगता से निरीक्षण किये जाने निर्देशित किया गया। इस दिशा में बस ऑपरेटरों की बैठक कर काम की तलाश में जाने वाले लोगों के बारे में जानकारी मिलने पर त्वरित सूचना दिये जाने बस चालक एवं परिचालकों को  समझाईश देने का निर्णय लिया गया, ताकि सूचना मिलते ही काम की तलाश में बाहर जाने वाले श्रमिकों को रोकने पहल किया जा सके। वहीं ग्राम पंचायतों के द्वारा संबंधित ग्राम पटेल एवं कोटवारों के सहयोग से बाहर काम पर जाने वाले लोगों की सूचना रखे जाने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया गया। इस दिशा में पंचायत पदाधिकारियों का सहयोग भी लिये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिया गया।