मध्यप्रदेश पर्यटन : अब रंग भी, मलंग भी

264
बिन्दु सुनील

पर्यटन के क्षेत्र में मध्यप्रदेश आज एक स्थापित नाम है। देश-विदेश के पर्यटक प्रदेश की ओर आकर्षित हो रहे हैं। ऐसे में पर्यटन को और अधिक बढ़ावा देने के लिये अनेक नये प्रयास किये जा रहे हैं। इन प्रयासों में पर्यटन विभाग के विज्ञापनों ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। हाल ही में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने चौथे पर्यटन विज्ञापन को लोगों को समर्पित किया। प्रख्यात एडमेकर पीयूष पांडे की विज्ञापन बनाने वाली कम्पनी ओगेल्वी एण्ड माथर ने वर्ष 2006 में अपने पहले वीडियो विज्ञापन ‘बॉयोस्कोप’ की मदद से ‘हिन्दुस्तान का दिल देखो’ से प्रदेश की एक अलग पहचान बनाई। दूसरे वीडियो ‘आईस केम्पेन’ में आँखों के माध्यम से मध्यप्रदेश के विभिन्न धार्मिक तथा खूबसूरत पर्यटन-स्थलों को दर्शाया गया। इसी प्रकार वर्ष 2010 में ‘हेण्ड शेडोग्राफी’ के माध्यम से मध्यप्रदेश का चित्रण किया गया, जिसे हर स्तर पर सराहना मिली तथा इस विज्ञापन को ईएफएफआईई द्वारा पुरस्कृत किया गया। चौथे और हालिया विज्ञापन में सूखे और गीले रंगों का इस्तेमाल किया गया है।

‘‘मध्यप्रदेश के सौ रंग’’ थीम पर आधारित इस एड में सूखा गुलाल फेंकने पर शेर जैसी आकृति बनती है, जिसके माध्यम से कान्हा और बाँधवगढ़ को दर्शाया गया है। गीले रंगों से शांति का प्रतीक साँची के स्तूप और महाकाल की नगरी उज्जैन को चित्रित करने का प्रयास किया गया है। सवा करोड़ रुपये से बने इस विज्ञापन को सिनेमा-घरों में दिखाने की भी तैयारी की गई है। खासतौर पर इस विज्ञापन फिल्म को गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान के सिनेमा-घरों में दिखाया जायेगा।

प्रदेश में पर्यटन को उद्योग का दर्जा मिला है। रोजगार की अपार संभावनाओं को देखते हुए विभाग द्वारा कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं। अब राज्य शासन द्वारा निजी भवनों में हेरिटेज होटलों पर पूँजीगत अनुदान की व्यवस्था की गयी है। धार्मिक पर्यटन-स्थलों पर बजट होटल बनाये जाने का निर्णय लिया गया है। अमरकंटक, महेश्वर, उज्जैन, ओंकारेश्वर, चित्रकूट, ओरछा, मैहर, पन्ना, दतिया, मण्डला, मुलताई, सलकनपुर तथा मण्डलेश्वर को चिन्हित कर निवेशकों को अनुदान दिये जाने का निर्णय लिया गया है।

हाल ही में मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम को पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिये राष्ट्रपति द्वारा दो राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया। विभाग द्वारा प्रारंभ की गई एयर टैक्सी को सर्वोत्तम अनूठे प्रयोग की श्रेणी का मोस्ट इनोवेटिव टूरिज्म प्रोजेक्ट पुरस्कार दिया गया। पूरे प्रदेश में पहली बार एयर टेक्सी सेवा की शुरूआत पर्यटन निगम और वेन्चुरा एयर कनेक्ट के सहयोग से देश के पर्यटन मानचित्र पर एयर टेक्सी द्वारा आवागमन की सुविधा उपलब्ध करवाने वाला देश का पहला राज्य है।

दूसरा पुरस्कार ‘‘भारत में पर्यटन स्थल का सर्वश्रेष्ठ नगरीय प्रबंधन’’ श्रेणी में माण्डू को मिला है। पर्यटकों को नये पर्यटन आकर्षण उपलब्ध करवाने के दृष्टिकोण से निजी क्षेत्र के माध्यम से वाटर टूरिज्म को बढ़ावा दिया है। इसके अतिरिक्त प्रदेश के राष्ट्रीय और राज्य राज मार्गों को प्रमुख पर्यटन-स्थलों से जोड़ने के लिये भी निर्माण कार्य प्रारंभ किया जा चुका है।

भारत की ह्रदय-स्थली के रूप में स्थापित मध्यप्रदेश अपने विस्तृत क्षेत्र में पर्यटन की असीम संभावनाओं को समेटे हुए हैं। इसीलिये एम.पी. अजब है सबसे गजब है।