सरगुजा संभाग में लोक सुराज अभियान की तैयारियां प्रांरभ

187
cg government
cg government

 

 

 

 

 

 

 

अम्बिकापुर

राज्य शासन द्वारा संचालित विभिन्न विकास कार्यो में तेजी लाने एवं प्रशासन में कसावट लाकर आम जनता को योजनओं का यथाशीघ्र लाभ पहुंचाने के लिए 13 अप्रैल से शुरू होने जा रहे प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान की तैयारियां सरगुजा संभाग में शुरू कर दी गई हैं। सरगुजा संभाग के कमिश्नर श्री टी.सी. महावर ने 13 अप्रैल से 12 मई 2015 तक चलने वाले प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के संबंध में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा दिए गए निर्देश के परिपालन में सरगुजा संभाग के सभी जिलों के कलेक्टरों और निर्माण तथा विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे इस अभियान को शासन की मंशा के अनुरूप संचालित करने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां 10 अप्रैल तक पूर्ण कर लें। उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा है कि वे इस दौरान अपने मुख्यालय में ही रहें।
कमिश्नर श्री महावर ने कलेक्टरों से कहा है कि वे लोक सुराज अभियान में मुख्य संयोजक की भूमिका का बेहतर ढंग से निर्वहन करें और अपने जिले में विभिन्न विभागों से तालमेल बैठाकर इस अभियान की सफलता सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि राज्य शासन की मंशा के अनुरूप शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन को गति प्रदान कर आम जनता को योजनाओं का यथाशीघ्र अधिक से अधिक फायदा पहुंचाने की कार्यवाही करें। प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के तहत आम जनता के प्रति प्रशासन की संवेदनशीलता एवं गतिशीलता और तत्परता लगातार बनी रहे। उन्होंने कहा है कि इस अभियान के तहत प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित मंत्रीगण, मुख्य सचिव, सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी जिलों का दौरा कर वहां होने वाले लोकार्पण तथा भूमि पूजन के कार्यक्रमों में शामिल होंगे। इस अभियान के तहत गांव एवं शहरों के अस्पताल, स्कूल, कॉलेज, आंगनबाड़ी केन्द्र, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कन्या छात्रावास, तहसील कार्यालय, राशन दुकान, बस स्टैण्ड, परियोजना कार्यालय और अन्य शासकीय कार्यालयों में कही भी जाकर वहां की कार्यप्रणाली और जनता के साथ होने वाले व्यवहार की जानकारी लेंगे। इसलिए सभी अधिकारी अपने अधीनस्थ कार्यालयों में लंबित आवेदनों का 10 अप्रैल तक निराकरण सुनिश्चित करें।
कमिश्नर श्री महावर ने कलेक्टरों से कहा है कि किसानों के लिए संचालित योजनाओं का लाभ उन्हें दिलाना सुनिश्चित करें साथ ही आने वाले कृषि-सीजन में गुणवत्तापूर्ण खाद, बीज और कीटनाशक की उपलब्धता के लिए अभी से आवश्यक तैयारी शुरू कर दी जाए। उन्होंने बीमारियों से निपटने के लिए स्वास्थ्य अमला को सर्तकता के साथ तैनात रहने के निर्देश दिए हैं तथा जिन दवाईयों की आवश्यकता हो उनकी पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करें। बीमारियों से बचाव के लिए गांवों में जन जागरूकता लाई जाए और मितानिनों को सक्रिय किया जाए। नए शिक्षा सत्र में स्कूल जाने लायक सभी बच्चों का प्रवेश सुनिश्चित कराएं तथा शाला त्यागी बच्चों को पुनः स्कूलों में प्रवेश दिलाना सुनिश्चित करें। नया शिक्षा सत्र शुरू होने से पहले स्कूल भवनों की मरम्मत, रंगाई-पुताई और किताबों आदि की भी व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए। आगामी वर्षा ऋतु में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण के लिए स्थलों का चयन, गड्ढों की खुदाई और पौधों की उपलब्धता आदि की व्यवस्था करने भी कहा गया है। कुपोषण मुक्ति के लिए संचालित योजनाओं एवं रणनीति के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों में प्रवेश से कोई बच्चा वंचित न रहंे तथा रेडी र्टू इंट गुणवत्तापूर्ण हो और फुलवारी केन्द्रों का संचालन सुचारू रूप से किया जाए। कमिश्नर ने निर्माण विभागों के अधिकारियों से कहा है कि शासन के नए बजट में स्वीकृत निर्माण कार्यो एवं परियोजनाओं का प्राक्कलन एक माह के भीतर तैयार करने और जमीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा आवश्यक कार्यालयीन कार्यवाही भी सुनिश्चित करने कहा है।
कमिश्नर श्री महावर ने कलेक्टरों से कहा है कि राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं एवं उपब्धियों का व्यापक प्रचार-प्रसार जिला स्तर से किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा है कि विगत ग्राम सुराज अभियानों के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं, उनके निर्देशों के पालन और किए गए शिलान्यास के पूर्ण हुए कार्यो पर आधारित सफलता की कहानियां फोटो सहित संबंधित विभाग के अधिकारी, जनसम्पर्क कार्यालय को उपलब्ध कराएं ताकि उनका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा सके। उन्होंने कहा है कि विकासखण्ड स्तर पर किसानों एवं ग्रामीणों के लिए संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का प्रचार रथ के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाए। इसके साथ ही कमिश्नर स्वास्थ्य शिविर और स्थानीय आवश्यकता के अनुरूप अन्य शिविर भी लगाए जाएं। श्री महावर ने हर जिले की विशेष योजनाओं के संबंध में मौलिक तरीके से जन जागरण अभियान चलाकर सकारात्मक वातावरण निर्माण करने के भी निर्देश दिए हैं।