रबी में मिलेगा 24 हजार हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में जल संसाधन विभाग से पानी

154

धमतरी

जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक में आज निर्णय लिया गया कि धमतरी जिले के 24 हजार 259 हेक्टेयर क्षेत्र की फसल को रबी में सिंचित करने पानी की सुविधा दी जाएगी। यह बैठक कलेक्टर श्री भीम सिंह की अध्यक्षता में जिला पंचायत के सभाकक्ष में सुबह 11 बजे से आहूत की गई थी। बैठक में रबी वर्ष 2014-15 में महानदी मुख्य नहर से 15 हजार 670 हेक्टेयर, महानदी प्रदायक नहर से 740 हेक्टेयर, कंवरहट शाखा नहर से 425 हेक्टेयर, सोंढूर प्रदायक नहर से पांच हजार 138 हेक्टेयर, कुल 21 हजार 973 हेक्टेयर क्षेत्र के लिए पानी दिया जाना प्रस्तावित किया गया है। इसके अलावा पैरी बांयी तट नहर प्रणाली से 2100 हेक्टेयर और आठ लघु सिंचाई योजनाओं से 186 हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचित करने का लक्ष्य है।
कार्यपालन अभियंता जल प्रबंध संभाग रूद्री श्री अजय शर्मा ने बैठक में बताया कि महानदी परियोजना के तहत जिले के जलाशयों में 28.911 टी.एम.सी. पानी है। इसमें चार बांधों रविशंकर सागर जलाशय गंगरेल, मुरूमसिल्ली, दुधावा तथा सोंढूर बांध से कुल 12 टी.एम.सी. पानी जिले के 24 हजार 259 हेक्टेयर क्षेत्र में रबी फसल के लिए दिया जाएगा। इस मौके पर उप संचालक कृषि द्वारा बताया गया कि इस साल रबी का रकबा एक लाख एक हजार हेक्टेयर लक्षित किया गया है। इसके तहत अब जल संसाधन विभाग से 24 हजार 259 हेक्टेयर तथा कृषि विभाग द्वारा 59 हजार 921 हेक्टेयर में विभिन्न स्त्रोतों से सिंचाई की सुविधा दी जाएगी।
इस मौके पर कलेक्टर ने जिले में कृषि और जल संसाधन विभाग के विभिन्न सिंचाई के योजनाओं जानकारी ली। उन्होंने कृषि विभाग को जल संसाधन के साथ समन्वय स्थापित कर एक माह के अंदर गांववार नक्शा तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इस नक्शा के जरिए जिले में उपलब्ध सिंचाई स्त्रोतों की जानकारी और वास्तविक सिंचित क्षेत्र की जानकारी मिल सकेगी। इस अवसर पर विधायक सिहावा श्री श्रवण मरकाम सहित जल संसाधन एवं कृषि विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।